Spread the love

फ्लोचार्ट कैसे काम करते हैं | फ्लोचार्ट की प्रकृति क्या है | Flowchart kya hai hindi | फ्लोचार्ट और एल्गोरिथ्म की उपयोगिता क्या है | Flowchart Symbol कैसे Use करते हैं

Flowchart क्या होता है और यह कैसे काम करता है, अगर यह आप जानना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही जगह पर हैं। जी हां, दोस्तों, इस आर्टिकल में हम हिंदी में बहुत ही आसान तरीके से उदाहरण देकर आपको सबकुछ बताएंगे कि Flowchart क्या होता है, फ्लोचार्ट की प्रकृति क्या है, फ्लोचार्ट और एल्गोरिथ्म की उपयोगिता क्या है और Flowchart Symbol कैसे Use करते हैं। इसके अलावा फ्लोचार्ट का महत्व क्या है और इस टर्म को क्यों यूज करते हैं, आज सारी जानकारी आपको यहां मिलेगी। दोस्तों, यह जानकारी इतने सरल भाषा में आपको कहीं और नहीं मिलेगी। तो चलिए शुरू करते हैं। सबसे पहले तो यहां आने के लिए लव यू रहेगा आपको…।

दोस्तों, Flowchart kya hai hindi जानना है तो पहले इसका संधि विच्छेद कर दीजिए, आपको इसका अर्थ समझ आ जाएगा। जैसे – Flow और chart इन दो शब्दों से बना है Flowchart। यानी एक ऐसा चार्ट जो आपके जीवन की रफ्तार को बढ़ा दे। अब ऐसे समझिए कि हमारा हर एक दिन कैसे गुजरता है। सुबह हम उठते हैं और हमारा चार्ट यानी टाइम टेबल तय रहता है कि कब क्या करना है। जिसका तय नहीं रहता है वह पूरे दिन कंफ्यूज रहता है और इसी में उसका दिन कट जाता है।

यानी किसी भी काम को करने का सिलसिलेवार तरीका। कहते हैं न कि स्टेप बाई स्टेप इसने किया है। वह स्टेप बाई स्टेप काम ही Flowchart है। कंप्यूटर की भाषा में कहें तो इसे ही हम algorithm कहेंगे। तो चलिए अब फटाफट जानते हैं कि फ्लोचार्ट क्या होता है और इसे कैसे बनाएं।

Flowchart kya hai hindi | What is Flowchart in Hindi

दोस्तों, Flowchart एक तरह का tool है जिसे प्रोग्रामिंग इंडस्ट्री द्वारा बनाया गया है। (programming industry tool flow chart in hindi)। इसका मतलब यह है कि किसी भी प्रॉब्लम को सिस्टमेटिक ढंग से सॉल्व करने के लिए जिस टूल का इस्तेमाल बिजनेस या सॉफ्टवेयर इंडस्ट्री में होता है, वही फ्लोचार्ट है।

एक उदाहरण देखिए कि अगर आपको खीर बनानी है तो फिर आप क्या करते हैं। पहले दूध को उबालते हैं। फिर चावल चुन कर रख लेते हैं। फिर चावल को उसमें डालते हैं। फिर उसमें चीनी डालते हैं। फिर उसे कुछ देर उबालते हैं। फिर उसमें मेवे डालते हैं।

यानी खीर बनाने के लिए आप स्टेप बाई स्टेप एक प्रक्रिया अपना रहे हैं। जब यही काम आप कंप्यूटर की भाषा में करेंगे तो कहा जाएगा कि Flowchart है। यानी स्टेप बाई स्टेप किसी भी चीज का हल निकालना।

आपको बता दूं कि सॉफ्टवेयर कंपनियों में बिना Flowchart के कुछ भी नहीं हो सकता है। इसी तरह से हर तरह की बड़ी बिजनेेस कंपनियां Flowchart के जरिए ही आगे बढ़ती हैं। चलिए आगे आपको बताते हैं कि Flowchart बनाते कैसे हैं और इसका फायदा क्या है। यह हम सबके जीवन को आसान कैसे बनाता है।

Flowchart कैसे काम करते हैं | Flowchart kya hai hindi

दोस्तों, आजकल programming बहुत जरूरी हो गया है। ज्यादातर काम ऑनलाइन हो रहा है और सॉफ्टवेयर कंपनियों के लिए कोई भी सॉफ्टेवयर बनाना है तो उसके लिए programming का जानना जरूरी है। Flowchart को समझने के क्रम में आपको programming को भी समझना ही होगा। | Flowchart kya hai hindi जानने के लिए दो चीजें जानना जरूरी है जिसके बारे में हम नीचे बता रहे हैं।

programming लिख पाना सबके लिए आसान नहीं होता है यह बहुत ही टेक्निकल और टेढ़ा चीज है। ऐसे में Flowchart के जरिए जो सॉफ्टवेयर इंजीनियर होते हैं, वे आसानी से इसे कर पाते हैं। इसमें algorithm का भी सहारा लिया जाता है।

इसमें हम Flowchart के जरिए किसी भी तरह के प्रोग्राम के सिंबल को लोगों तक पहुंचा सकते हैं। ऐसा करने से लोगों यानी कस्टमर्स के लिए इसे समझना आसान होता है। आपको यह भी बता दूं कि फ्लोचार्ट को बनाते समय भी कई तरह के सिंबल्स का यूज किया जाता है। जैसे- Arrow, Square, Rectangle, Oval, diamond। इन सभी का यूज किया जाता है।

यहां यह भी जानना जरूरी है कि कोई भी फ्लोचार्ट बनता है तो उसके लिए जो भी सिंबल हम यूज कर रहे हैं सबका एक फिक्स मिनिंग होता है। इसे हम बदल नहीं सकते हैं बल्कि Arrow के जरिए इन सबको जोड़ा जाता है, जिसे देखकर दूर से ही कोई भी समझ सकता है कि इस चार्ट का फ्लो किधर है यानी किधर से किधर यह जा रहा है। चलिए कुछ चिह्नों के बारे में हम आपको बता देते हैं कि कैसे ये काम करते हैं और इन्हें कैसे पहचानें।

Start/End

दोस्तों, किसी भी फ्लोचार्ट को जब हम शुरू करते हैं तो वहां के लिए Start का प्रयोग होता है और जहां पर खत्म होता है वहां पर End का प्रयोग होता है। ऐसे में इसे समझना बेहद आसान है। कुछ जगह पर खत्म करते समय stop का भी यूज होता है।

flow line arrow

इसके जरिए आप चार्ट के फ्लो को समझ सकते हैं कि वह कहां और किस क्रम में जा रहा है। आपको इस arrow को ध्यान से देखना है और इसी के जरिए आपको पूरे चार्ट को समझना है।

Input/Output

आप दोस्तों, Input/Output को समझ लीजिए। यह बहुत ही जरूरी होता है किसी भी फ्लोचार्ट में। program का output और इनपुट जहां भी होगा तो वहां पर हम इसका यूज करेंगे। कहने का मतलब यह है कि अगर आपको कोई जोड़ निकालना है तो फिर आप इसमें जो भी इनपुट डाल रहे हैं वहां पर इनपुट साइन दिखेगा और बाद में इस जोड़ का जो आउटपुट आएगा यानी रिजल्ट आएगा वहां पर आउटपुट दिखेगा।

process flow diagram

किसी भी प्रॉब्लेम को हम कैसे सॉल्व कर रहे हैं, उसे समझने के लिए जो प्रॉसेस फॉलो करते हैं वही है process flow diagram यह आपको चार्ट में देखकर आसानी से समझ आ जाएगा।

इसे भी पढ़िए-

RAM क्या होता है, मोबाइल के लिए कितना रैम चाहिए

कंप्यूटर क्या है और कैसे काम करता है


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.