भैयादूज ( यम द्वितीया ) (कार्तिक शुक्ल द्वितीया) की पूरी कहानी आखिर क्यों मनाया जाता है ये त्यौहार

इसे ‘भ्रातृ-द्वितीया’ भी कहते हैं। इस पर्व का प्रमुख लक्ष्य भाई तथा बहिन के पावन सम्बन्ध तथा प्रेम भाव की…