Spread the love

पैगंबर मुहम्मद की जीवनी, पैगम्बर मुहम्मद साहब का वास्तविक नाम क्या है? इस्लाम से पहले मुहम्मद का धर्म क्या था? paigambar muhammad kaun the in hindi

क्या आप भी जानाना चाहते हैं कि इस्लाम धर्म के संस्थापक पैगंबर मुहम्मद कौन थे? paigambar muhammad kaun the in hindi? पैगंबर मुहम्मद की पत्नी का नाम क्या था? मुहम्मद पैगंबर कैसे बने? पैगंबर मुहम्मद ने अपनी ही बेटी से निकाह किया था ? अगर हां, तो आप बिल्कुल सही जगह पर हैं। यहां आपको इन सारे सवालों का जवाब मिल जाएगा। साथ ही हम यह भी बताएंगे कि इस्लाम से पहले पैगंबर मुहम्मद का धर्म क्या था? तो चलिए शुरू करते हैं।

दोस्तों, पैगंबर मुहम्मद ने ही इस्लाम धर्म की स्थापना की थी। इसका मतलब साफ है कि मुहम्मद के आने के बाद ही इस्लाम धर्म आया। उसके पहले खुद मुहम्मद भी इस धर्म के नहीं थे। नीचे मैं बताऊंगा कि इस्लाम से पहले मुहम्मद का धर्म क्या था? और क्या मुहम्मद ने अपनी बेटी से निकाह किया था? अभी बस इतना जान लीजिए कि मुहम्मद के कारण ही इस्लाम अस्तित्व में आया।

तो चलिए अब फटाफट इनके बारे में सबकुछ बता देते हैं। आपको पैगंबर मुहम्मद की जीवनी बताते हैं और उसके बाद उनके उद्देश्य और कार्यों पर भी चर्चा करेंगे। तो सबसे पहले जान लेते हैं कि paigambar muhammad kaun the in hindi

पैगंबर मुहम्मद की जीवनी हिंदी में | paigambar muhammad kaun the in hindi

विकिपीडिया के मुताबिक 570 ई – 8 जून 632 ई) को जन्मे मुहम्मद इस्लाम के संस्थापक थे। इन्हें इस्लामिक धर्म के मान्यता के अनुसार ईश्वर का संदेशवाहक भी माना जाता है। इन्हें इस्लाम के पैग़म्बर के रूप में भी जाना जाता है। पैगंबर यानी ईश्वर का अंतिम दूत। माना जाता है कि आदम , इब्राहिम , मूसा ईसा (येशू) जैसे ईश्वर के दूतों के ही संदेशों को पुष्ट करने के लिए मुहम्मद धरती पर आए। चूंकि उन्हें अल्लाह का अंतिम दूत माना जाता है इसलिए उन्हें पैगंबर कहा जाता है।

570 ई में अरब के शहर मक्का में पैगंबर मुहम्मद का जन्म हुआ था। वह अभी छह साल के ही थे तभी उनके माता पिता का देहांत हो गया। इसके बाद से वह खुद को अल्लाह की इबादत में लगा दिए। कहा जाता है कि वे हीरा नामके एक पर्वत गुफा में घंटों बैठकर साधना करते थे। इसी गुफा में पहली बार उन्हें अल्लाह अपना पहला इल्हाम (दिव्य ज्ञान) मिला। इसके बाद से ही उन्होंने अपना सामाजिक कार्य करना शुरू कर दिया।

इसके बाद मुहम्मद ने यह ऐलान करते हुए कि ईश्वर एक है और वह खुद ईश्वर के भेजे अंतिम दूत हैं उन्होंने ईश्वर और मानवता को लेकर व्याख्यान देने शुरू कर दिए। यह वह दौर था जब महिलाओं और बच्चों पर क्रूरता हो रहा था। तब मुहम्मद ने ही संपूर्ण धर्म की व्याख्या दी जिसे इस्लाम माना गया। आज भी इसी इस्लाम को संपूर्ण धर्म के रूप में जानते हैं, जहां मानवता सबसे बड़ी चीज है। मानवता को सबसे ऊंची जगह दी गई है। paigambar muhammad kaun the in hindi के तहत अब जानिए उनकी कितनी पत्नियां थीं।

इस्लाम धर्म के संस्थापक मुहम्मद साहब की कितनी पत्नियां थीं?

कहते हैं कि मुहम्मद साहब यानी पैगंबर मुहम्मद ने कई शादियां की थीं। हालांकि उनकी पहली शादी खदीजा के साथ हुआ था। पैगंबर मुहम्मद से शादी करने से पहले खदीजा ने दो शादियां और की थीं। बीबीसी की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि पहले पति का निधन हो गया और दूसरे पति को उन्होंने खुद छोड़ दिया था। इसके बाद उन्होंने मन बनाया कि वे अब कभी शादी नहीं करेंगी। लेकिन मुहम्मद को देखने के बाद वे खुद को नहीं रोक सकीं और वे उनसे शादी के लिए तैयार हो गईं।

कहा जाता है कि खदीजा की उम्र तब 40 साल थी जबकि पैगंबर मुहम्मद सिर्फ 25 साल के थे। उम्र के बीच इतने बड़े फासले के बावजूद दोनों ने शादी की। कहा जाता है कि खदीजा कभी भी किसी के बंधन में नहीं रहीं वह आजाद ख्याल औरत थीं। वहीं, खदीजा की मौत के बाद मुहम्मद ने कई शादियां कीं.

कहा जाता है कि इस्लाम में मुहम्मद की सभी पत्नियों को मां के समान माना जाता है। कहा जाता है कि जितनी भी औरतों से पैगंबर ने बाद में शादी कि वे सभी तलाकशुदा या फिर किसी दिक्कत में थीं, जिन्हें उन्होंने सहारा दिया। कुल मिलाकर उन्होंने 10 और शादियां की थीं.

पैगम्बर मुहम्मद साहब का वास्तविक नाम क्या है?

पैगम्बर मुहम्मद साहब का वास्तविक यानी असली नाम सिर्फ मुहम्मद है। पैगंबर इसलिए नाम पड़ा क्योंकि माना जाता है कि वे ईश्वर यानी अल्लाह के आखिरी दूत थे। अल्लाह के आखिरी दूत को पैगंबर कहते हैं। वहीं साहब सम्मान के साथ उनके नाम में जुड़ा हुआ है। paigambar muhammad kaun the in hindi के तहत अब नीचे जानिए क्या उन्होंने अपनी बेटी से शादी किया था।

इसे भी पढ़ें-

हर तरह की धार्मिक खबरों के लिए यहां क्लिक करें

शिवलिंग क्या है. उसका आकार ऐसा क्यों है, उसके बारे में सबसे बड़ा झूठ क्या है

क्या मुहम्मद ने अपनी बेटी से निकाह किया था | पैगंबर ने आयशा से शादी क्यों की | आयशा कौन थी?

इस्लाम धर्म के संस्थापक पैगंबर मुहम्मद ने अपनी पत्नी की मौत के बाद आयशा नाम के एक लड़की से शादी की थी। जब मुहम्मद ने आयशा से शादी की थी उस वक्त आयशा की उम्र को लेकर मुस्लिम समाज में कई तरह की अलग-अलग मान्यताए हैं। दारूल उलूम देबंद की वेबसाइट दारूल इफ्ता कहते है, हजरत मुहम्मद साहब से हजरत आयशा की जब शादी हुई थी, तब उनकी उम्र महज 6 साल थी और जब उनकी रुखसती हुई तो उनकी उम्र 9 साल कुछ माह की थी।

वहीं, सही बुखारी (हदीस) के मुताबिक, शादी के समय आएशा (रजि.) की उम्र 6 साल थी और नबी की उम्र 53 साल की थी मगर उनकी रुख्सती 9 साल की उम्र में तब हुई जब वह शारीरिक रूप से बालिग हो गईं।

भारत से फरार चल रहे इस्लामी विद्वान डॉ. जाकिर नाइक के मुताबिक आयशा की शादी और रुखसती उम्र 6 और 9 वाली बात सही है। डॉ. जाकिर नाइक कहते हैं कि मेडिकल साइंस के मुताबिक जब किसी लड़की को प्यूबर्टी (रजस्वला) आ जाता है, तो वह शादी के योग्य मान ली जाती है.  हालांकि आज के समय के कुछ मुस्लिम स्कॉलर के मुताबिक आयशा की उम्र उस समय 19 साल की थी।

हालांकि इन सारी जानकारियों के बीच यह कहीं भी नहीं आता है कि आयशा पैगंबर मुहम्मद की बेटी थी। क्योंकि इस्लाम धर्म के जानकारों के मुताबिक उनकी सिर्फ चार बेटियां थीं और उनके नाम थे. ज़ेनब, रुकैया, उम्मे कुलसुम, और फातिमा। तो इसमें आप खुद देख लीजिए कि आयशा का नाम कहीं नहीं है तो फिर यह उनकी बेटी कैसे हुई। हां, कम उम्र में शादी के कारण लोग बेटी की उम्र को होने को लेकर आयशा को बेटी कह देते हैं।

(दोस्तों, उम्मीद है कि पैगंबर मुहम्मद के बारे में सारी जानकारी आपको मिल गई होगी। अगर आपके मन में कोई सवाल है तो नीचे करें हम तुरंत जवाब देंगे। हमारे वेबसाइट पर आते रहिए और प्यार लूटाते रहिए। लव यू दोस्तों)


Spread the love

By Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.