Spread the love

शिवलिंग में लिंग क्या है? शिवलिंग का आकार ऐसा क्यों है? शिवलिंग की कहानी क्या है? shivling kya hota hai in hindi? महिलाओं को शिवलिंग क्यों नहीं छूना चाहिए?

दोस्तों, क्या आप जानना चाहते हैं कि शिवलिंग क्या है? shivling kya hota hai in hindi? शिवलिंग का आकार ऐसा क्यों है? अगर हां, तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं। यहां हम शिवलिंग के बारे में आपके मन में जितने भी सवाल हैं उन सभी सवालों का जवाब इस आर्टिकल में देने जा रहे हैं। तो चलिए शुरू करते हैं। दोस्तों, हिंदू धर्म के लिए यह जानकारी बहुत ही जरूरी तो इसे शेयर करना मत भूलिएगा।

आपने देखा होगा कि हिंदूओं की धार्मिक भावना से खिलवाड़ करने वाले अक्सर कहते हैं कि हिंदू तो लिंग की पूजा करते हैं। इन अनपढ़ों को कहिए कि संस्कृत पढ़ो फिर समझ जाओगे कि लिंग का मतलब क्या होता है? शिवलिंग क्या होता है? शिवलिंग का मतलब क्या होता है? शिवलिंग क्या है? shivling kya hota hai in hindi?

दरअसल, लिंग का मतलब संस्कृत में चिह्न या प्रतीक होता है। ऐसे में शिवलिंग यानी शिव का प्रतीक। अब अगर इन्हें ये पता होगा कि यह शिव का प्रतीक है इसलिए इसे शिवलिंग कहते हैं तो फिर ये ऐसा नहीं बोलते लेकिन चूंकि इन्हें सिर्फ हम हिंदुओं की भावनाओं का मजाक उड़ाना होता है इसलिए वे इसे लिंग (जिसका मतलब गंदे शब्द से है यानी पुरुष के लिंग) से जोड़कर मजाक उड़ाते हैं। तो चलिए आज विस्तार से इस बारे में आपको बता दे रहे हैं ताकि आगे से कोई ऐसी जुर्रत करे तो आप तुरंत उसे फैक्ट्स के साथ जवाब दें कि shivling kya hota hai in hindi? तो चलिए सबसे पहले जान लेते हैं कि shivling kya hota hai in hindi

शिवलिंग क्या है हिंदी में | shivling kya hota hai in hindi

शिवलिंग संस्कृत के दो शब्दों शिव और लिंग से बना है। शिव यानी स्थिर, शाश्वत और लिंग यानी प्रतीक या चिह्न। यहां शिव भगवान शंकर को संबोधित है। इसलिए इसका पूरा अर्थ होगा शिव का प्रतीक या शिव का अंश। इसे ही शिवलिंग कहते हैं। शिवलिंग का एक अर्थ अनंत से भी है। यानी जिसका कोई अंत नहीं है वही शिवलिंग है। खुद ब्रह्मांड की भी उत्पत्ति लिंग से ही होती है।

पर, कुछ लोग जो हिंदू धर्म के साथ खिलवाड़ करना चाहते हैं वे शिवलिंग में जो लिंग जुड़ा है उसे पुरुष लिंग यानी योनि से जोड़ते हैं। यह बिल्कुल गलत है। यह भ्रामक तथ्य है जिसे हिंदुओं के खिलाफ साजिश के तहत फैलाया जा रहा है। ऐसे में अगर आप एक अच्छे हिंदू हैं तो इस जानकारी को शेयर करिए ताकि अधिक से अधिक हिंदूओं को सही जानकारी हो जाए कि शिवलिंग वास्तव में क्या होता है और दूसरे धर्म का वाले क्या भ्रम फैला रहे हैं।

इसे शिव का गुप्तांग बताने वाले निहायत ही मूर्ख लोग हैं या फिर वे जानबूझकर हिंदूओं के धर्म से खिलवाड़ करना चाहते हैं। इन्हें बताइएगा कि ये लिंग का मतलब प्रतीक है। ये धरती ये ब्रह्मांड ये सब जिस धूरी पर घूम रहे हैं, उसके पीछे भी भगवान के शिवलिंग का वर्णन आता है। हालांकि इस पर वही विश्वास करेगा जो ईश्वर को और उसकी सत्ता को मानता हो। चलिए shivling kya hota hai in hindi के तहत आपको बता देते हैं कि शिवलिंग का आकार ऐसा क्यों होता है?

शिवलिंग का आकार ऐसा क्यों है | शिवलिंग में लिंग क्या है?

शिवलिंग के अंडाकार आकार को लेकर दो तरह की बातें प्रचलित हैं। एक वैज्ञानिक आधार है और दूसरा आध्यात्मिक आधार है। हम दोनों इसलिए बता रहे हैं क्योंकि कुछ लोग विज्ञान पर विश्वास करते हैं और कुछ लोग भगवान की सत्ता पर विश्वास करते हैं। तो चलिए दोनों जान लीजिए।

आध्यात्मिक दृष्टि से ऐसा माना जाता है कि ब्रह्मांड का निर्माण शिव ने ही किया था। यानी शिव ही वह बीज हैं जिससे पूरा संसार बना है। इसलिए इसका आकार अंडे जैसा है। किसी भी अंडे से ही कोई जीव निकलता है। तो जब सारा संसार ही इस अंडे से निकला है तो फिर इसे शिवलिंग नाम दे दिया गया।

वैज्ञानिक दृष्टि से अगर बात करें तो बिग बैंग थिअरी ( big bang theory shivling par) में कहा गया है कि ब्रह्मांड का निर्माण अंडे जैसे एक कण से हुआ है। बाद में शिवलिंग के इस आकार को इसी अंड के आकार से जोड़कर आध्यात्मिक लोगों ने माना कि इसी शिवलिंग से ही इस संसार का निर्माण हुआ है। shivling kya hota hai in hindi के तहत अब जानिए कि शिवलिंग की कहानी क्या है?

इसे भी पढ़िए

हर तरह की धार्मिक स्टोरी एक जगह पर पढ़िए यहां क्लिक कीजिए

घर बैठे कमाने के सारे ट्रिक सीख लीजिए, यहां एक क्लिक पर

शिवलिंग की कहानी क्या है?

कहा जाता है कि एक बार भगवान विष्णु और ब्रह्मा में इस बात को लेकर विवाद हो गया कि उनमें सबसे श्रेष्ठ कौन है। इसी विवाद को सुलझाने के लिए भगवान शिव ने एक दिव्य लिंग (दिव्य ज्योति) को प्रकट किया। इस लिंग के आदि और अंत को तलाश करते हुए विष्णु भगवान और ब्रह्मा जी को शिव के परब्रह्म रूप का ज्ञान हुआ और दोनों ने समझ लिया कि भगवान शिव का यह लिंग ही सर्वश्रेष्ठ है। इसके बाद से ही शिवलिंग की पूजा आरंभ हुई।

यही वजह है कि आज भी भारत सहित दुनियाभर के कई देशों में शिवलिंग की विधिवत पूजा की जाती है। माना जाता है कि इस लिंग में ही पूरी सृष्टि समाहित है। यहां तक कि भगवान विष्णु और ब्रह्मा के साथ महेश यानी भगवान शंकर का भी स्थान इसमें है। यही वजह है कि कहा जाता है कि अगर आप एक बार किसी शिवलिंग की विधिवत पूजा कर लें तो आपका मोक्ष हो जाता है। shivling kya hota hai in hindi के तहत अब जान लीजिए कि शिवलिंग की पूजा लड़कियां करें या नहीं?

लड़कियों को शिवलिंग की पूजा क्यों नहीं करनी चाहिए | महिलाओं को शिवलिंग क्यों नहीं छूना चाहिए?

दोस्तों, इसे लेकर भी एक भ्रम फैलाया गया है। कहा जाता है कि शिवलिंग चूंकि भगवान शिव का लिंग है तो उसे महिलाओं को खासकर कुंवारी कन्याओं को नहीं छूना चाहिए। यह सिर्फ हिंदू धर्म को मजाक उड़ाने के लिए फैलाया जाता है। जब हमने पहले ही बता दिया कि शिवलिंग में जो लिंग है वह शिव का गुप्तांग नहीं है बल्कि उसका अर्थ होता है प्रतीक या चिह्न से। तो जो ऐसा कहे कि लड़कियों को भगवान का लिंग यानी शिवलिंग नहीं छूना चाहिए, उन्हें बेइज्जत करिए और कहिए कि संस्कृत पढ़ो।

दोस्तों, लोग हिंदू धर्म का मजाक उड़ाने के लिए ऐसा करते हैं। ऐसे लोगों के भ्रम में मत पड़िए। आज भी हमारे गांव में लड़कियां हर दिन भगवान शिव के मंदिर में जाती हैं और विधिवत उनकी पूजा करती हैं। शिवलिंग को छूती हैं और उस पर पुष्प अर्पित कर पूरी श्रद्धा से उसकी पूजा करती हैं।

कुछ जगहों पर यह जरूर कहा जाता है कि चूंकि भगवान शिव अक्सर निद्रा की स्थिति में रहते हैं। ऐसे में लड़कियों के शिवलिंग छूने पर उनकी निद्रा भंग होने का डर रहता है। हालांकि मैं इससे भी सहमत नहीं हूं। अगर पुरुषों के छूने से निद्रा भंग नहीं होती तो लड़कियों के छूने से कैसे भंग हो जाती है।

कुछ ढकोसला वाले आपको तरह तरह का डर दिखाएंगे कि अगर शिवलिंग छू दी हो और शादी नहीं हुई है तो तुम्हारे साथ ये हो जाएगा वो हो जाएगा। इनकी मत सुनिए। भगवान की पूजा मन से कीजिए। सबकुछ वही देगा। ये ढकोसला वाले केवल अपना पेट भरेंगे।

(दोस्तों, उम्मीद है कि आपको shivling kya hota hai in hindi के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर आपके मन में कोई भी सवाल है तो नीचे कमेंट कीजिए। हम जवाब तुरंत देंगे। इसे शेयर भी कर दीजिए आपके सहयोग से ही हम आगे बढ़ेंगे। लव यू दोस्तोंं…)


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.