Spread the love

भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में निर्देशक पराग पाटिल और प्रोड्यूसर विजय यादव ने सुपरस्टार खेसारी लाल यादव (khesari lal yadav) के साथ मिलकर एक नया इतिहास रच दिया है। यह इतिहास रचा गया है फिल्म बोल राधा बोल की शूटिंग के दौरान। इस फिल्म में सुपरस्टार खेसारी लाल यादव को कान्हा का इतना भव्य और खूबसूरत रूप दिया गया है कि आपकी आंखें उन पर ठहर जाती हैं। राधा के रूप में मेघा श्री (bhojpuri actress megha shree) को पराग पाटिल ने इतनी खूबसूरती से पर्दे पर उतारा है कि आप उन्हें देखती है श्रद्धा से हाथ जोड़ लेते हैं। यह कमाल इंडस्ट्री में पहली बार हुआ है। फिल्म की शूटिंग जारी है और कान्हा-राधा के रूप में खेसारी और मेघा श्री की जोड़ी हर दिल में जगह बना ली है। चलिए आपको बताते हैं कि आखिर पराग पाटिल स्टाइल सिनेमा की ऐसी क्या खासियत है कि हर बार वह एक नया इतिहास बना रही है।

एक दूसरे को बखूबी समझते हैं खेसारी और पराग पाटिल। khesari aur parag patil ki filmen

खेसारी लाल यादव की फिल्म बोल राधा बोल (khesari ki film bol radha bol ke bare mein batayen) आज इतने चर्चा में है तो इसके पीछे वजह यह भी है कि ये दोनों एक-दूसरे के साथ जब काम करते हैं तो एक दोस्त की तरह सेट पर होते हैं। खेसारी और पराग पाटिल एक-दूसरे को बखूबी समझते हैं। खेसारी के मन में क्या चल रहा है, पराग पाटिल उनके चेहरे से ही पढ़ लेते हैं। इसी तरह से किस सीन में पराग पाटिल को क्या चाहिए, उनके बोलने से पहले ही खेसारी उसे पूरा कर देते हैं। यह तभी होता है जब डायरेक्टर और ऐक्टर एक दूसरे पर विश्वास करें।


मेहनती खेसारी और क्रिएटिव पराग पाटिल की जुगलबंदी

खेसारी लाल यादव भोजपुरी इंडस्ट्री के सबसे मेहनती ऐक्टर्स में से एक हैं। इतना बड़ा सुपरस्टार होने के बावजूद वह अपने रोल के लिए इतनी मेहनत करते हैं कि उससे नए कलाकारों को सीखना चाहिए। ऐसे में मेहनती खेसारी लाल यादव के साथ जब अपने फन में माहिर पराग पाटिल की जोड़ी मिल जाती है तो कमाल तो होना ही है। कुछ खास तो रचा ही जाना है, जो ये दोनों रच रहे हैं और लंबे समय से रच रहे हैं।



विजय यादव जैसा प्रोड्यूसर मिले तो चीजें हो जाती हैं आसान

इस फिल्म की इतनी चर्चा इसलिए भी है कि इसके प्रोड्यूसर विजय यादव हैं। विजय यादव को माना जाता है कि वह ज्यादा हस्तक्षेप नहीं करते हैं। मस्तमौला प्रोड्यूसर हैं। मस्ती-मस्ती में अपनी टीम से बेस्ट काम निकलवाने के माहिर खिलाड़ी हैं। विजय यादव अपनी टीम को खुलकर खेलने की छूट देते हैं और जब टीम को पूरा मौका मिले बिना हस्तक्षेप किए तो वह अच्छा करती ही है। वैसे भी सुपरस्टार खेसारी और विजय यादव एक दूसरे का सम्मान करते हैं और एक-दूसरे के साथ इनकी बेहतर बॉन्डिंग से पूरी इंडस्ट्री वाकिफ है।

ये स्टोरी भी आपको पसंद आएगी

सादगी पसंद हिरोइन मेघाश्री का होना फिल्म के लिए यूएसपी। khesari aur megha shree ki jodi kaisi hai

पराग पाटिल और विजय यादव के नजरिए की दाद देनी होगी कि उन्होंने इस फिल्म में राधा के रोल के लिए सादगी पसंद हिरोइन मेघा श्री को चुना। आप राधा के रूप में मेघा को देखिए। पराग और विजय की सोच पर वह कितना जबरदस्त खरा उतरती हैं। बिल्कुल राधा के रूप में वह आपका, हम सबका मन मोह लेती हैं। मेघा श्री का होना इस फिल्म को और मजबूत बनाता है।

bhojpuri actress megha shree ke bare mein। भोजपुरी हिरोइन मेघा श्री के बारे में बताएं

भोजपुरी हिरोइन मेघा श्री साउथ इंडस्ट्री की हिरोइन हैं। साउथ में उन्होंने खूब काम किया है। उन्हें Meghasri (south actress Meghasri) के नाम से भी जाना जाता है। Meghasri ने साउथ में 2015 से फिल्मी करियर की शुरुआत की। वे कन्नड़ बिग बॉस ( Bigg Boss Kannada) में भी नजर आ चुकी हैं।

पराग पाटिल स्टाइल सिनेमा है क्या? parag patil style cinema kya hai?

पराग पाटिल स्टाइल सिनेमा को समझना है तो आप खेसारी की ही कुछ पुरानी और कुछ हालिया फिल्में देख लीजिए। संघर्ष देख लीजिए। यह फिल्म खेसारी को सुपरस्टार बनाने वाली फिल्म है। हालिया फिल्मों में लिट्टी-चोखा और आशिकी देख लीजिए। ये दोनों फिल्में सुपरहिट हो चुकी हैं। पराग पाटिल सिनेमा दरअसल, उस सोच का सिनेमा है, जहां कुछ नया और अलग करना है। जहां कंटेंट और क्रिएटिविटी पर फोकस होता है। जहां संगीत को एक नए मुकाम पर ले जाने की कोशिश होती है। जहां समाज से जुड़े विषय जो हाशिए पर हैं, उन्हें टटोलने की कोशिश होती है। तब जाकर एक बदलाव शुरू होता है, जिसे पराग पाटिल ने किया है।

ये स्टोरीज भी आपको पसंद आएंगी

https://kyahotahai.com/live-in-relationship-wali-kahani-in-hindi/

https://kyahotahai.com/ias-tina-dabi-ke-hone-wale-pati-kaun-hai-uski-umar-kitni-hai/

https://kyahotahai.com/oyehoye-in-se-kaise-kamaye-in-hindi/


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.