Spread the love

hemoglobin kya hai, hemoglobin kya hota hai, hemoglobin kise kahte hain

दोस्तों आज हम फिर से एक अनोखी जानकारी के साथ आपसे जुड़ रहे है। आज हम बात कर रहे हैं hemoglobin kya hota hai. अक्सर आप हीमोग्लोबिन के बारे में सुनते हैं तो मन में एक सवाल आता ही है कि आखिर ये होता क्या है। तो आज इस आर्टिकल में आपको इसके बारे में सारी जानकारी मैं देने जा रहा हूं।

हमारे शरीर में रक्त की क्या महत्ता है, इस बात से आप सब अनभिज्ञ नहीं है। हमारे शरीर में रक्त के द्वारा ही फेफड़ों से ऑक्सीजन शरीर कि कोशिकाओं तक पहुंचता है और रक्त ही शरीर के अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकालने में सहायक होता है, तो रक्त शरीर के लिए कितना आवश्यक होता है, यह बात तो स्पष्ट हो गई। लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है कि रक्त का रंग लाल है क्यों होता है, तो इसका जवाब है hemoglobin के कारण।

चलिए हम आपको kyahotahai.com के माध्यम से hemoglobin के बारे में कुछ जानकारी सांझा करते है। Hemoglobin क्या है? Hemoglobin के कार्य क्या है? हीमोग्लोबिन के कमी से कौन सा रोग होता है? Hemoglobin के कमी के क्या लक्षण होते है? हीमोग्लोबिन बढ़ाने के घरेलू उपाय क्या है? चलिए सबसे पहले जानते हैं कि hemoglobin kya hota hai

हीमोग्लोबिन क्या है | hemoglobin kya hota hai

हमारे रक्त में बड़ी संख्या में लाल रक्त कोशिकाएं पाई जाती है। जिसमें हीमोग्लोबिन होता है। यह लाल रंग का आयरन युक्त प्रोटीन है। पुरुषों में औसतन 13.5 से 17.5 ग्राम प्रति 100 मिलीलीटर जबकि महिलाओं में 12 से 15.5 ग्राम प्रति 100 मिलीलीटर की आश्यकता होती है।

Hemoglobin के क्या कार्य होते है?

हीमोग्लोबिन फेफड़ों से ऑक्सीजन लेकर शरीर के ऊतकों तक ले जाता है और ऊतकों से corbon dioxide को फेफड़ों में पहुंचता है। यही कार्य हीमोग्लोबिन का मुख्य कार्य है।

हीमोग्लोबिन के कमी से कौन से रोग होते है?

हीमोग्लोबिन के कमी के कारण शरीर में खून की कमी हो जाती है , इस दशा में एनीमिया का खतरा हो जाता है । कई स्थितियों में यह जानलेवा भी हो सकता है।pregnent महिलाओं में और बुजुर्गों में इसका खतरा आधिक होता है।

इसे भी पढ़िए

सीबीसी टेस्ट क्या होता है. सेहत के लिए क्यों जरूरी है

सांडे का तेल क्या होता है, पुरुषों के लिए क्यों है जरूरी

Hemoglobin के कमी के क्या लक्षण होते है?

कमजोरी या थकान , सांस लेने में दिक्कत ,सिर चकराना ,तेज या अनियमित दिल की धड़कन,सिरदर्द,हाथ और पैर का ठंडा होना,त्वचा में पीलेपन की समस्या ,छाती में दर्द इत्यादि।

हीमोग्लोबिन बढ़ाने के घरेलू उपाय क्या है?

एक ग्लास पानी में एक नींबू और एक चम्मच शहद घोलकर रोजाना पीने से खून की कमी जल्दी पूरी होती है।साथ ही पालक का सेवन करने से भी खून पूर्ति होती है क्यूंकि पालक में vitamin ए ,सी ,बी9 ,फाइबर,आयरन पाया जाता है।

पुरुषों में हीमोग्लोबिन कितना होना चाहिए?

पुरुषों को औसतन 13.5 से 17.5 ग्राम प्रति 100 मिलीलीटर हीमोग्लोबिन की आवश्यकता होती है। अगर बात करें खून की तो 150 से 180 पाउंड वजन वाले औसत वयस्क के शरीर में लगभग 1.2 से 1.5 गैलन रक्त होना चाहिए। यह लगभग 4,500 से 5,700 एमएल है।

महिलाओं में हीमोग्लोबिन कितना होना चाहिए

पुरुष और महिलाओं में अलग अलग हीमोग्लोबिन का स्तर होता है। पुरुषों में जहां 13.5-17.5 ग्राम प्रति डेसीलीटर का स्तर हीमोग्लोबिन का सामन्य स्तर है। वहीं, महिलाओं में 12.0 – 15.5 ग्राम प्रति डेसीलीटर हीमोग्लोबिन की मात्रा नार्मल मानी जाती है।

( दोस्तों उम्मीद है कि हमारे द्वारा साझा की गई जानकारी आपको बेहद पसंद आया होगी ।यदि आपके मन में कोई भी सवाल है तो आप हमारे वेब साइट kyahotahai.com पर पूछ सकते है। साथ ही यह interesting fact अपने दोस्तों को share करना बिल्कुल भी ना भूल)


Spread the love

By Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.