Spread the love

वैशाख अमावस्या के टोटके | अमावस्या के दिन क्या नहीं खरीदना चाहिए | amavasya ke din kya kare kya na kare | अमावस्या के दिन सिंदूर लगाना चाहिए कि नहीं

हिंदू धर्म में amavasya का विशेष महत्व है। यही वजह है कि हर कोई जानना चाहता है कि amavasya ke din kya kare kya na kare hindi। अमावस्या के टोटके इतने सारे हैं कि उसको लेकर कई बार कंफ्यूजन हो जाता है। कई लोग समझ नहीं पाते कि आखिर अमावस्या पर बाल धोना चाहिए कि नहीं। महिलाओं के लिए यह भ्रम रहता है कि इस दिन सिंदूर लगाना चाहिए कि नहीं। इस दिन खरीददारी को लेकर भी टोटके हैं। कुछ सामान खरीदना चाहिए और कुछ नहीं खरीदना चाहिए। आज इस आर्टिकल में हम आपके लिए अमावस्या को लेकर जितने टोटके हैं, उन सबके बारे में विस्तार से बताएंगे। तो चलिए शुरू करते हैं।

Contents hide

amavasya ke din kya kare kya na kare hindi | अमावस्या के दिन क्या करें क्या ना करें

दोस्तों, अमावस्या के दिन कई ऐसी चीजें हैं जो करना बिल्कुल ही वर्जित है। इस दिन दूसरों का अन्न भूलकर भी नहीं खाना चाहिए। इस दिन मांस नहीं खाना चाहिए। इस दिन झूठ नहीं बोलना चाहिए। इस दिन बिना स्नान किए मुंह में कुछ भी नहीं डालना चाहिए। वहीं, क्या करना चाहिए अगर जानना चाहते हैं तो इस दिन दान-पुण्य जरूर करना चाहिए। पीपल के पेड़ के नीचे कच्चा दूध और काला तिल जरूर चढाएं, इससे पितर लोग खुश होते हैं और आशीर्वाद देते हैं। चलिए नीचे विस्तार से आपको इसकी जानकारी देते हैं।

अमावस्या के दिन क्या करें | amavasya ke din kya kare kya na kare hindi

  • सुबह बिना कुछ खाए स्नान करें और फिर पूजा पाठ के बाद दान करें।
  • ब्राह्मण को भोजन कराएं तो बहुत लाभ मिलेगा।
  • अपने पितरों को खुश करने के लिए पीपल के पेड़ के नीचे दूध और तिल अर्पित करें।
  • तुलसी जी के पास आज के दिन दीया जरूर जलाएं।
  • घर की साफ-सफाई करें और कूड़ा को बाहर फेंक दें।
  • भूखे प्राणियों को भोजन कराएं। मछलियों को आटे की गोली दें।
  • इस दिन गंगा स्नान का बेहद महत्व है। संभव हो तो गंगा में स्नान करें।
  • मौनी अमावस्या है तो फिर मां लक्ष्मी जी की पूजा करें।
  • भगवान शिव का पूजन भी लाभकारी है।
  • आज ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए।

अमावस्या के दिन क्या नहीं करना चाहिए | amavasya ke din kya kare kya na kare hindi

  • किसी दूसरे के घर का अन्न नहीं खाना चाहिए।
  • इस दिन सोने की खरीददारी नहीं करनी चाहिए।
  • आटे और तेल की खरीददारी नहीं करनी चाहिए।
  • झूठ नहीं बोलना चाहिए।
  • झाड़ू भूलकर भी आज के दिन ना खरीदें।
  • मांस का सेवन नहीं करना है। क्रोध नहीं करना चाहिए।
  • स्त्री से शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिए।
  • सूई धागे का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • बाल नहीं कटवाना चाहिए। हाथ के नाखून भी ना काटें।

अमावस्या के दिन सिंदूर लगाना चाहिए कि नहीं

दोस्तों, शादीशुदा औरतों को सिंदूर अवश्य लगाना चाहिए। कुछ जगह पर आपको गलत जानकारी दी जाएगी कि इस दिन सिंदूर नहीं लगाना चाहिए। लेकिन कई पंडित कहते हैं कि किसी भी परिस्थिति में एक शादीशुदा महिला को सिंदूर अवश्य लगाना चाहिए। एक महान पंडित से पूछने के बाद मैं यह लिख रहा हूं कि इस दिन आप सिंदूर जरूर लगाएं। किसी भ्रम में न फंसें। और हां, अगर सोमवती अमावस्या है तो फिर तो पीपल के पास भी सिंदूर चढ़ाएं।

वैशाख अमावस्या के टोटके | amavasya ke din kya kare kya na kare hindi

वैशाख अमावस्या को बहुत ही महत्व दिया जाता है। काल सर्प योग से बचना है तो फिर आपको इस अमावस्या के दिन भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए। आज के दिन पितृदोष से भी मुक्ति मिलती है। इसके लिए ब्राह्मणों को भोजना कराना चाहिए। चलिए आपको आज के दिन के टोटके बताते हैं।

  • आज के दिन मांसाहार न करें। शराब का सेवन ना करें।
  • आज के दिन शारीरिक संबंध ना बनाएं।
  • आज के दिन काल सर्प योग और पितृ दोष दोनों से ही मुक्ति मिलती है। इसके लिए दान पुण्य करें और ब्राह्मणों को भोजन कराएं।
  • वैशाख अमावस्या के दिन गंगा स्नान जरूर करें। संभव हो तो बिना कुछ खाए स्नान करें और फिर मां गंगा की आरती भी करें।
  • आज के दिन गाय की पूजा करेंगे तो आपकी हर मनोकामना पूरी होगी।
  • पितरों को खुश करने के लिए पिंड दान, तर्पण और श्राद्ध आज जरूर करें।

अमावस्या के दिन सिर धोना चाहिए कि नहीं

अमावस्या के दिन बाल धोने से परहेज करना चाहिए। आज के दिन बाल धोने से आपका धन संपत्ति खत्म होगा। शैंपू लगाना आज के दिन पूरी तरह से वर्जित है। यहां तक कि साबून भी लगाने से बचना चाहिए। शुद्ध स्नान कीजिए सिर्फ सादे पानी से। इसके अलावा आज के दिन कपड़ा भी नहीं धोना चाहिए। ऐसा करती हैं तो धन वैभव सबकुछ नष्ट हो जाएगा।

अमावस्या के दिन क्या खाना चाहिए | amavasya ke din kya kare kya na kare hindi

अमावस्या के दिन शुद्ध शाकारी भोजन करना चाहिए। मांस मदिरा का सेवन वर्जित है। इसके अलावा प्याज-लहसून का सेवन भी ना करें। लौकी, खीरा और सरसो का साग भूलकर भी ना खाएं। इस दिन दाल, चावल, रोटी और आचार जैसे सात्विक भोजन कीजिए। दूध ले सकती हैं। दही खा सकती हैं। लेकिन मांस खा लीं तो सबकुछ नष्ट हो जाएगा।

अमावस्या के दिन जन्म लेने वाले बच्चे कैसे होते हैं | amavasya ke din kya kare kya na kare hindi

अमावस्या के दिन जन्म लेने वाले बच्चों की जिंदगी बहुत ही संघर्ष से भरी होती है। उनकी जिंदगी में बहुत सारे कष्ट आएंगे, इसके लिए तैयार रहिए। इसके अलावा आपके घर में भी शांति छीन सकती है। ऐसे में इस दिन बच्चा जन्म ले तो घर में शांति के लिए पूजा पाठ अवश्य कराएं।

अमावस्या के दिन पितरों को कैसे खुश करें?

अमावस्या के दिन पितरों को खुश करने के लिए सुबह उठने के बाद स्नना करें। इसके बाद कच्चा दूध, गंगा जल, तिल, चीनी के कुछ दाने, चावल और फूल एक लोटा में लेकर पीपल के पास जाएं और अर्पित करें। भगवान विष्णु और घर में लगे अपने पूर्वजों की तस्वीरों की पूजा करें। अब ब्राह्मण और भूखे लोगों को बुलाकर श्रद्धा से भोजन कराएं। उन्हें दान दें। कुछ दान मंदिर के लिए भी निकालें।

अमावस्या के दिन किसकी पूजा करनी चाहिए | amavasya ke din kya kare kya na kare hindi

अमावस्या के दिन विशेष रूप से भगवान चंद्रमा की पूजा होती है। इसके अलावा भगवान शिव, मां लक्ष्मी की भी पूजा करनी चाहिए। भगवान विष्णु की भी पूजा को फलदायी माना गया है।

अमावस्या की रात को क्या करना चाहिए | amavasya ke din kya kare kya na kare hindi

अमावस्या की रात का महत्व उन लोगों के लिए है जिन्हें काल सर्प दोष है। ऐसे लोगों को इससे मुक्ति दिलाने के लिए अमावस्या के रात के समय में अगर हवन हो तो फिर इसका बहुत लाभ मिलता है। इसके अलावा अगर घर में अशांति रहती है तो रात में कुछ भजन कीर्तन करा दें तो जगह शुद्ध हो जाता है।

अमावस के दिन का क्या उपाय करना चाहिए | amavasya ke din kya kare kya na kare hindi

अमावस के दिन आपको 5 लाल फूल और 5 जलते दीपक नदी में प्रवाहित अवश्य करना चाहिए। इससे धन वैभव की प्राप्ति होती है। इस दिन पितरों को जरूर खुश करना चाहिए इससे परिवार बढ़ता है और संपन्न होता है। संतान की प्राप्ति के लिए आज विधि विधान से पूजा कर सकते हैं। रात में काले कुत्ते को अगर तेल से चुपड़ी रोटी खिलाते हैं तो फिर आपको इसका दोगुना लाभ मिल जाता है।

amavasya full list 2022 hindi

30 मई, सोमवार – यह सोमवती अमावस्या है। इस दिन महिलाएं वट सावित्री व्रत करेंगी, पति के लंबी आयु के लिए।

29 जून,, बुधवार- आषाढ़ मास की अमावस्या है। इसे श्राद्ध की अमावस्या भी कहते हैं। पितरों के लिए यह अहम है।

28 जुलाई, गुरुवार, सावन मास की अमावस्या है। इस दिन भगवान शिव और चंद्रमा भगवान की पूजा करेंगे।

27 अगस्त, शनिवार- भाद्रपद यानी भादो महीने में पड़ता है। इसे भाद्रपद अमावस्या या फिर कुशाग्रहणी अमावस्या भी कहेंगे।

25 सितंबर, रविवार- अश्विन मास की अमावस्या है जो कि श्राद्ध कार्य के लिए उत्तम है।

25 अक्टूबर, मंगलवार- कार्तिक मास की यह अमावस्या है, इस दिन दिवाली का पर्व भी होता है।

23 नवंबर, बुधवार- मार्गशीर्ष अमावस्या, भगवान कृष्ण की पूजा करें।

23 दिसंबर, शुक्रवार- साल की आखिरी अमावस्या, पौष कृष्ण पक्ष की अमावस्या है तो भगवान कृष्ण की पूजा इसमें भी होगी।

(दोस्तों, उम्मीद है कि अमावस्या के बारे में सभी जानकारी आपको मिल गई होगी। आप और किस धार्मिक विषय पर पढ़ना चाहते हैं, नीचे कमेंट करके बताइए। यहां आते रहिए और प्यार लुटाते रहिए। लव यू)

इसे भी पढ़ें-

मौनी अमावस्या क्या है, इस दिन क्या ना करेें

सूर्य ग्रहण क्या होता है, इस दिन क्या करने से बचें

चैत्र अमावस्या क्या है, इस दिन क्या करें


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.