कार्बोहाइड्रेट, पॉलीहाइड्रॉक्सी ऐल्डिहाइड अथवा कीटोन होते हैं जिसे कार्बन, हाइड्रोजन एवं ऑक्सीजन के 1 : 2 : 1 के अनुपात में मिलाकर बनाया जाता है।

• कार्बोहाइड्रेट हमारे शरीर हेतु मुख्य ऊर्जा का स्रोत होते हैं।

• एक ग्राम कार्बोहाइड्रेट के ऑक्सीकरण से 17 किलोजूल ऊर्जा प्राप्त होती है।

• कार्बोहाइड्रेट के स्त्रोत (Sources of Carbohydrate) : आलू, अनाज (चावल, गेहूँ, मक्का), फल (केला, आम), शर्करा (शहद, गन्ना, चुकन्दर), रोटी, दूध आदि है।

सेल्यूलोज (Cellulose) : यह पौधे की कोशिका भित्ती में पाया जाता है। कपास एवं कागज शुद्ध सेल्युलोज के बने होते हैं। पशुओं में सेल्युलोज का पाचन होता है परंतु मनुष्यों में इसका पाचन नहीं होता है।

शर्करा (Sugar) : यह मीठा श्वेत क्रिस्टलीय पदार्थ होता है। यह जल में घुलनशील हो जाती है। मुख्यतया फलों में पाया जाता है। ग्लूकोज शर्करा की अतिरिक्त मात्रा, यकृत में ग्लाइकोजन के रूप में तथा शरीर के अन्य भागों में वसा के रूप में संग्रहित रहती है। यकृत की ग्लाइकोजन, रूधिर में शर्करा का स्तर नियंत्रित करती है।

स्टार्च (Starch) : रासायनिक रूप से यह एमाइलोज एवं एमाइलोपेक्टिन का मिश्रण है जिसमें इनका अनुपात 1: 4 होता है।

कार्बोहाइड्रेट के प्रकार (Types of Carbohydrates)

कार्बोहाइड्रेट तीन प्रकार के होते है

(i) मोनो सैकराइड : ग्लूकोज, ग्लैक्टोज

(ii) डाइ सैकराइड्स :

ग्लूकोज + फ्रक्टोज → सूक्रोज

ग्लूकोज + ग्लूकोज → माल्टोज

ग्लूकोज + ग्लैक्टोज → लैक्टोज

(iii) पॉली सैकराइड : स्टार्च, सेल्यूलोज

कार्बोहाइड्रेट के मुख्य कार्य :

(a) ऑक्सीकरण द्वारा शरीर को ऊर्जा प्रदान करना ।

(b) विटामिन C का निर्माण करना।

(c) न्यूक्लिक अम्लों का निर्माण करना।

(d) जन्तुओं के बाह्य कंकाल का निर्माण करना।

• कार्बोहाइड्रेट की अत्यधिक मात्रा लेने से पाचन तंत्र संबंधी रोग हो जाते हैं।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *