आषाढ़ माह से शेष- शैय्या पर निद्रा-मग्न भगवान विष्णु, भादों की शुक्ल पक्ष की एकादशी को करवट बदलते हैं। इस एकादशी को ‘पद्मा एकादशी’ या ‘वर्तमान एकादशी’ भी कहते हैं । इस एकादशी को भगवान वामन का व्रत व पूजन किया जाता है

By Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *