स्त्री का कौन सा अंग छूना चाहिए? स्त्री को सबसे ज्यादा मजा कब आता है? औरतों की कितनी उम्र तक संबंध बनाने की इच्छा होती है? mahila kitni der me chadti hai 2022

mahila kitni der me chadti hai 2022: दोस्तों, सेक्स एजुकेशन के इस नए टॉपिक में आपका स्वागत है। आज हम बात करेंगे कि महिला कितनी देर में चढ़ती है यानी वह कितने देर में गर्म हो जाती है और संभोग के लिए तैयार हो जाती है। इसका मतलब यह भी है कि महिला को जोश कब आता है? क्योंकि जब उसे जोश आएगा तभी वह संभोग के लिए पूरी तरह से तैयार होगी। इस आर्टिकल में हम आपको यह भी बताएंगे कि महिला का कौन सा अंग छुएं तो उसे सबसे अधिक मजा आएगा और कैसे छुएं। साथ ही यह भी बताएंगे कि महिला कितने देर तक संभोग करना चाहती है? और महिला का पानी कितने देर में निकल जाता है? तो चलिए दोस्तों, शुरू करते हैं। इस आर्टिकल को शेयर भी कर दीजिएगा।

दोस्तों, संभोग को तभी पूर्ण माना जाता है जबकि महिला संतुष्ट हो जाए। क्योंकि पुरुष का क्या है। कई बार वह ऊपर चढ़ता है और चार पांच बार धक्के मारता है और उतने में ही उसका वीर्य निकल जाता है लेकिन वीर्य निकलते ही वह तो संतुष्ट हो जाता है लेकिन महिला को तो कुछ भी नहीं पता चलता। क्योंकि आपके पांच धक्के में महिला का कुछ नहीं होने वाला है। इतने धक्के के बाद तो वह धीरे-धीरे अब गर्म होनी शुरू होगी। और आप इधर झड़ जाएंगे तो सोचिए कैसे महिला को संतुष्टि मिलेगी।

ऐसे में साफ है कि आपको लंबे समय तक टिकना होगा। महिला को संतुष्ट करने के लिए किसी भी पुरुष को कम से कम 15 मिनट से 30 मिनट तक तो टिकना ही होता है। ऐसा क्यों चलिए इसके बारे में भी विस्तार से बताते हैं। सबसे पहले यह जान लीजिए कि एक महिला कितनी देर में चढ़ती है। यानी mahila kitni der me chadti hai यानी वह संभोग के लिए कितनी देर में तैयार होती है।

mahila kitni der me chadti hai

महिला कितनी देर में चढ़ती है | mahila kitni der me chadti hai

कोई भी महिला संभोग के लिए 10 मिनट का समय लेती है। 10 मिनट तक आपको फोर प्ले करके उसे गर्म करना ही होता है। अगर आप सीधे ऊपर चढ़कर धक्के मारना शुरू कर देते हैं तो फिर आप तो वीर्य गिराकर संतुष्ट हो जाएंगे लेकिन महिला संतुष्ट नहीं होगी। ऐसे में आपको उसे संभोग के लिए तैयार करना होता है। कम से कम 10 मिनट तक जब आप उसके नाजुक अंगो को छुकर, चाटकर या चुसकर उसे उत्तेजित करते हैं तब वह चढ़ जाती है यानी संभोग के लिए तैयार हो जाती है।

ऐसा करने के लिए आपको फोर प्ले आना चाहिए। फोर प्ले मतलब संभोग से पहले किया जाने वाला कार्य है। फोर प्ले यानी महिला के दूध को छूना। उसे चूसना या फिर उसे सहलाना। इसी तरह से धीरे-धीरे उनके पूरे शरीर पर अपने होठ को घूमाना। उनके नीचे के जननांग को चूसना या फिर उसे पीना ताकि उन्हें अधिक आनंद आए। यह करने पर धीरे-धीरे वे उत्तेजित होंगी और आपके ऊपर चढ़ जाएंगी।

महिला ऊपर चढ़े या नीचे रहकर संभोग हो यह आप दोनों लोगों को मिलकर डिसाइड करना है लेकिन महिला के चढ़ने का मतलब यह है कि वह कितने देर में संभोग के लिए तैयार होती है। इसके अलावा इसका मतलब यह भी है कि वह कितने देर तक संभोग चाहती है। तो चलिए इसके बारे में नीचे हम विस्तार से बताते हैं। mahila kitni der me chadti hai के तहत अब जानिए महिला बेड पर कितनी देर टिकती है।

महिला बेड पर कितने देर टिक सकती है | mahila kitni der me chadti hai

दोस्तों, पोर्न मूवीज की बात छोड़ दीजिए क्योंकि कई लोग उससे तुलना करने लगते हैं। वह गलत है। वहां तो आपको छह छह घंटे तक महिला बेड पर टिकी हुई यानी संभोग करती हुई दिख जाएगी। वह सब फेक है। औसतन कोई भी महिला 20 मिनट से 35 मिनट तक बेड पर टिक सकती है। अगर आपने कोई दवा ली है और आप दोनों लोग मदिरा का सेवन किए हैं तो यह समय 50 मिनट तक भी हो सकता है लेकिन इसमें फोर प्ले भी शामिल है।

महिला कितने देर बेड पर टिकेगी यह तय करता है कि आपने फोर प्ले कितना अच्छा किया है। अगर आप फोर प्ले नहीं किए और सीधे चढ़ गए तो आप खुद ही चार पांच धक्के के बाद खत्म हो जाएंगे यानी आपका वीर्य गिर जाएगा और आप निढाल होकर सो जाएंगे तो फिर महिला को चाह कर भी क्या करेगी। कुछ नहीं कर सकती है। उसे मजबूर होकर हस्तमैथुन करके कैसे भी खुद को संतुष्ट करना होगा।

ऐसे में जरूरी है कि संभोग से पहले आप भरपूर फोर प्ले करें। अपने पार्टनर के शरीर के साथ खेलें. उसके एक-एक अंग को इतना सहलाएं, चूसें कि उसे मजा आ जाए। उसे इतना आनंद दे दीजिए कि फिर आपको संभोग के दौरान उसे बहुत अधिक समय देने की जरूरत ही ना पड़े।

अगर आपने फोर प्ले कर दिया है तो कुछ धक्के के बाद ही महिला संतुष्ट हो सकती है यानी उसका पानी निकल सकता है और आप दोनों ही स्खलित हो जाएंगे और संतुष्ट हो जाएंगे। लेकिन भारत में अक्सर ऐसा नहीं हो पा रहा है। यहां पुरुष सिर्फ जल्दी से जल्दी चढ़कर धक्के मारकर अपना वीर्य गिरा देता है और निढाल होकर सो जाता है। स्त्रियां संतुष्टि से वंचित रह जाती हैं. प्लीज ऐसा ना करें। चलिए अब mahila kitni der me chadti hai के तहत अब जानिए कि महिला का पानी कितनी देर में निकलता है।

यह भी पढ़ें

सेक्स एजुकेशन की हर स्टोरी यहां पर पढ़ें

सेक्स एजुकेशन से जुड़ा वीडियो यहां पर देखें

घर बैठे पैसे कमाने के ट्रिक यहां से सीखें

महिला का पानी कितनी देर में निकलता है | mahila kitni der me chadti hai

दोस्तों, एक औसत महिला का पानी 30 मिनट के संभोग में निकल सकता है लेकिन फिर वही बात अगर आपने फोर प्ले अच्छे से किया है तो। यानी वह अगर संभोग से पहले ही पूरी तरह से जोश में आ गई है तो फिर कुछ धक्के के बाद ही उसका पानी निकल जाएगा और वह पूरी तरह से संतुष्ट हो जाएगी। लेकिन अगर आपने फोर प्ले अच्छे से नहीं किया है तो फिर आप धक्के मारते रहिए लेकिन महिला का पानी नहीं निकलेगा, हां आपका जरूर निकल जाए।

दरअसल, पुरुषों के मुकाबले महिलाएं ज्यादा देर टिकती हैं। वे थोड़ा देर से स्खलित होती हैं। उनमें जोश देर तक रहता है और उनमें क्षमता अधिक होती है। ऐसे में उन्हें संभोग का चरम आनंद पाने के लिए थोड़ा टाइम लगता है। पुरुषों की तरह नहीं है कि ऊपर चढ़े और कुछ धक्के मारते ही वीर्य निकला और हो गए संतुष्ट। महिला को संतुष्ट करने के लिए पूरी प्रक्रिया है।

पहले धीरे-धीरे उनके सारे कपड़े खुद निकालिए। फिर एक एक अंग को स्पर्श कीजिए। अपने चीभ से स्पर्श करेंगे तो उन्हें अधिक मजा आएगा। अब उनके नाजुक अंगों को छुने की कोशिश कीजिए। उन्हें चाटने और चुसने की कोशिश कीजिए। यह सब करते हुए महिलाएं उत्तेजित होने लगती हैं और उनके नीचे वाले हिस्से यानी वजाइना से सफेद लिक्विड निकलना शुरू हो जाता है। लेकिन यह मत मानिए कि बस वे संतुष्ट हो गईं ये तो शुरुआत है।

कम से कम 15 मिनट तक ऐसा कीजिए और उसेक बाद 15 मिनट तक अच्छे से संभोग कीजिए। उसके बाद कहीं जाकर आपकी पत्नी या आपकी प्रेमिका कहीं संतुष्ट होगी। तो इसका आपको बहुत ही ख्याल रखना है कि सिर्फ संभोग सीधे नहीं करना है बल्कि अपनी पार्टनर को उसके लिए तैयार करना है। mahila kitni der me chadti hai के तहत अब जानिए कि जोश कब आता है।

स्त्री को जोश कब आता है | mahila kitni der me chadti hai

करीब 15 मिनट तक फोर प्ले करने के बाद स्त्री को जोश आना शुरू हो जाता है। यानी उसके बूब्स को चूसने, उसके शरीर के अन्य नाजुक अंगों को चाटने और पीने के बाद धीरे-धीरे वह उत्तेजित होती जाती है। इसके अलावा उनके जननांग को छूने या पीने से भी वह उत्तेजित होगी। तो औसतन मान कर चलिए कि 20 मिनट बाद वह पूरे जोश में होगी और अब उसके वजाइना से सफेद पानी डिस्चार्ज होना शुरू हो जाएगा। अब यही सही वक्त है कि आप चांप दीजिए यानी संभोग शुरू कर दीजिए।

स्त्री को सिर्फ संभोग करके जोश में लाना मुश्किल है। ऐसे में फोर प्ले बहुत ही जरूरी है। अगर आप चाहेंगे कि आपकी तरह सिर्फ और सिर्फ संभोग से ही वह जोश में आ जाए और यह सोचकर आप सीधे ऊपर चढ़ते ही धक्के लगाने शुरू कर देते हैं तो उससे कुछ नहीं होगा। आपको पूरा वक्त देना ही पड़ेगा। कम से कम 20 मिनट तो आपको अपने पार्टनर को जोश में लाने के लिए वक्त देना ही होगा। mahila kitni der me chadti hai के तहत अब जानिए कि कौन सा अंग छूना चाहिए।

स्त्री का कौन सा अंग छूना चाहिए | mahila kitni der me chadti hai

स्त्री को उत्तेजित करने के लिए उसके बूब्स और वजाइना को छूना चाहिए। सिर्फ छूना ही नहीं चाहिए बल्कि उसे मसलना चाहिए। पीना चाहिए। चाटना चाहिए। क्योंकि सिर्फ छूने और सहलाने से धीरे-धीरे उत्तेजित होंगी लेकिन जैसे ही आप चाटना और पीना शुरू करेंगे महिला अपने चरम उत्तेजना को पार कर जाएगी और चढ़ने के लिए तैयार हो जाएगी।

ऐसे में हमेशा याद रखिए कि इन दो अंगों के साथ आपको खूब खेलना है। इसके अलावा उसके शरीर के हर अंग को मासूमियत से स्पर्श कीजिए। इससे उसे मजा आने लगेगा। हर अंग के साथ खेलने का अपना अलग मजा है। आप जितना उसके एक एक अंग से खेलेंगे संभोग के दौरान वह आपको उतना ही सुख देगी।

अगर आप सीधे ऊपर चढ़कर धक्के मारना चाहेंगे तो फिर ना तो उसे मजा आएगा और आपको क्या खाक ही मजा आएगा। इसलिए जरूरी है कि संभोग के हर क्रिया को करने के लिए पर्याप्त वक्त लीजिए। mahila kitni der me chadti hai के तहत अब जानिए कि स्त्री को मजा कब आता है।

स्त्री को सबसे ज्यादा मजा कब आता है | mahila kitni der me chadti hai

स्त्री को सबसे अधिक मजा फोर प्ले में आता है। उसे संभोग में मजा नहीं आता है। जितना मजा उसे फोर प्ले यानी संभोग से पहले जब आप उसके हर एक अंग के साथ खेलते हैं तो उसे ज्यादा मजा आता है। इसके अलावा जब आप संभोग के समय खुलकर गंदी-गंदी बात उससे करेंगे तो उसे ज्यादा मजा आएगा। इसके अलावा हर रोज एक्सपेरिमेंट करेंगे तो उसे ज्यादा मजा आएगा। जैसे अलग अलग स्टाइल में संभोग करना।

कभी डॉगी स्टाइल में कीजिए, कभी घोड़ा स्टाइल में या अन्य स्टाइल जो भी आपको और आपके पार्टनर को पसंद आए। क्योंकि अलग-अलग स्टाइल करेंगे तो उसे रोजाना कुछ नया अनुभव होगा। इसके अलावा अलग-अलग तरह से उसके बॉडी का मसाज खुद कीजिए। कभी क्रिम से, कभी चॉकलेट गिराकर उसे चाटिए। मतलब कोशिश कीजिए कुछ अनोखा हो।

आजकल पूरे शरीर पर गर्मियों में आइसक्रीम गिराकर संभोग करने का चलन चला है तो उसे भी आप आजमा कर देखिए। इसके अलावा भी मैंगो का जूस गिराकर उसे पीते हुए उसके हर अंग को छूना, उसके पसंदीदा चॉकलेट को पूरे शरीर में पोतकर उसे चूसना इस तरह के अलग-अलग क्रिया करने पर उसे अधिक मजा आएगा। mahila kitni der me chadti hai के तहत जानिए कि किस उम्र तक संभोग की इच्छा रहती है।

औरतों की कितनी उम्र तक संबंध बनाने की इच्छा होती है | mahila kitni der me chadti hai

अमेरिका जैसे देशों में 70 साल की उम्र तक महिलाएं संभोग करने के लिए हमेशा इच्छा जाहिर करती हैं। लेकिन भारत में 50 साल तक जाते-जाते महिलाओं का संबंध बनाने की इच्छा मर जाती है। वे संबंध बनाना तो दूर पति के साथ सोना भी छोड़़ देती हैं। अलग सोने लगती हैं। अक्सर गांवों में तो 60 साल तक जाने के बाद पति और पत्नी अलग-अलग सोने लगते हैं। पति अक्सर बाहर सोने लगते हैं।

ऐसे में भारते के लिहाज से बात करें तो 40-45 साल तक इच्छा रहती है लेकिन उसके बाद कोई महिला संबंध नहीं बनाना चाहती। बहुत ही ज्यादा उत्तेजित होने वाली कोई भारतीय महिला होगी तो 55 साल तक करेगी लेकिन उसके बाद नहीं करेगी। हालांकि हम इस आंकड़े की पुष्टि नहीं करते लेकिन ऐसा ही कुछ अपने समाज में है।

भारत गांवों में बसता है और गांव में तो यही हाल है कि 50 साल बाद कोई औरत जल्दी संबंध नहीं बनाती और ना ही उसे अब इसमें कोई रूचि रहती है। हां, शहर में हो सकता है कि यह आंकड़ा 60 साल तक हो लेकिन इससे अधिक अभी भारत में नहीं है।

सेक्स एजुकेशन पर अब हम रोज एक वीडियो लेकर आएंगे ताकि आप लोगों को अधिक जानकारी दे सकें। इसलिए चैनल को सब्सक्राइब कर लीजिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.